ई-पेपर क्या है? न्यूज़ पब्लिशर्स को इससे क्या लाभ?

Table of Contents

ई-पेपर(e-Paper) वर्तमान में डिजिटल न्यूज़ पब्लिशर्स(Digital News Publishers) के लिए एक बेहद ही महत्वपूर्ण अंश बनता जा रहा है। इसको पूरी तरह से आगे हम समझने वाले हैं कि असल मे ई-पेपर होता क्या है, इसकी बनावट क्या है, डिजिटल न्यूज़ पब्लिशर्स को इससे क्या फायदे हैं।

ई-पेपर
ई-पेपर

ई-पेपर क्या होते हैं?

ये डिजिटल न्यूज़ पब्लिशर्स(Digital News Publishers) के लिए एक क्रांतिकारी पूर्ण एक कदम है। वह पेपर जिसे हम छू नहीं सकते मगर किसी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे मोबाइल या लैपटॉप आदि की मदद से उसको पढ़ सकते हैं अथवा उस पर लिख सकते हैं एवं किसी प्रकार की डिजाइनिंग की जा सकती है। उसे ई-पेपर कहते हैं। तकनीकी सुविधाओ से लैस ई पेपर वर्तमान के दौर में यूजर्स की सबसे बड़ी पसन्द बनती जा रही है।

ई-पेपर

ये समाचार पत्रों और पत्रिकाओं के लिए, ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल चलाने वालों एवं उनके पाठकों के लिए एक तोहफा है, क्योंकि एक ऑनलाइन पोर्टल में समाचार लेख सीमित होते हैं, प्रिंट विज्ञापन गायब होते हैं, इनसेट चित्र गायब होते हैं और सबसे महत्वपूर्ण बात मूल प्रिंट लेआउट को बरकरार रखने में थोड़ी सिककत होती है जो डिजाइनिंग और पोजिशनिंग पर खर्च किए गए संपादकीय प्रयास को बर्बाद कर देता है। लेकिन ई-पेपर इन सब दिक्क्तों को सुलझा देता है। यह एक ग्राहक को ऑनलाइन अपने पसंदीदा समाचार पत्र को विस्तार से पढ़ने का परिचित रूप और अनुभव देता है इसीलिए यह न्यूज़ पोर्टल चलाने वालों के लिए और भी महत्वपूर्ण हो जाता है।

ई-पेपर काम कैसे करता है?

अगर हम काम करने के तरीके की बात करें तो हम आपको बता दें कि ये इलेक्ट्रॉनिक पेपर के रूप में भी जाना जाता है, वह कागज पर साधारण स्याही की उपस्थिति की नकल करती है। इलेक्ट्रॉनिक पेपर डिस्प्ले एलसीडी पैनल से भिन्न होते हैं, जिसमें वे प्रकाश को उत्सर्जित करने के बजाय कागज की तरह प्रकाश को दर्शाते हैं। ये ऑनलाइन विस्तृत न्यूज़ पढ़ने वालों को एक बेहतर अनुभव देता है।

ई-पेपर
ई-पेपर डिस्प्ले दिखने में बिलकुल एक न्यूज़ पेपर की तरह होता है जिसमें तस्वीरें और खबरें विस्तार में होती हैं।  टेक्निकल रूप से देखा जाए तो ये विभिन्न रंगों और विद्युत आवेशों के सूक्ष्म कणों वाले स्पष्ट द्रव से भरे लाखों छोटे कैप्सूल होते हैं। सकारात्मक या नकारात्मक विद्युत क्षेत्र लागू होने पर कैप्सूल के ऊपर और नीचे स्थित इलेक्ट्रोड ऊपर और नीचे चलते हैं, जिससे इलेक्ट्रॉनिक पेपर डिस्प्ले की सतह एक निश्चित रंग को दर्शाती है। हालाँकि आपको इतना विस्तार में इसे समझने की जरूरत नहीं है। एक न्यूज़ पब्लिशर को मात्र इसके लाभ के बारे में पता होना चाहिए। 

कैसा दिखता है ई-पेपर

हम आपको बता दे कि ये एक सामान्य अख़बार की तरह ही। जिसमें तस्वीरें भी हैं और न्यूज़ का कंटेंट भी वो भी विस्तार में।

ई-पेपर

ई-पेपर की बनावट

बनावट की अगर बात करें तो इलेक्ट्रॉनिक पेपर उर्फ ई-पेपर या इलेक्ट्रॉनिक इंक डिस्प्ले; एक डिस्प्ले तकनीक है, जिसे कागज पर नॉर्मल स्याही के प्रेजेंट की नकल करके डिज़ाइन किया गया है। इलेक्ट्रॉनिक पेपर नॉर्मल न्यूज़ पेपर के डिजिटल वर्जन को ही दर्शाता है। चूँकि आप इसे PDF फॉर्म में डाउनलोड भी कर सकते हैं तो आपको इसे बिना बिजली या बिना इंटरनेट के भी पढ़ने इसे अनिश्चित काल तक रखे रहने में मदद होगी। आप चाहें तो इस pdf को इमेज फॉर्मेट में भी बदल सकते हैं।

ई-पेपर की ख़ासियत

अगर कुछ ख़ासियत के साथ ई-पेपर को तौला जाए तो हम आपको बता दें कि;

  • क्योंकि इसे हम pdf फॉर्म में डाउनलोड भी कर सकते हैं तो इसे हम ऑफलाइन भी पढ़ सकते हैं।
  • ये अख़बार की तरह ही दिखाई देता है।

ई-पेपर के कुछ एप्लीकेशन्स जो आपने आम तौर पर देखें होंगे

ई-पेपर

अमूमन अगर बात करें तो ई-पेपर के ढेर सारे उदाहरण आपको बाजार में देखने को मिल जाएंगे जैसे;

  • खुदरा दुकानों में इलेक्ट्रॉनिक मूल्य निर्धारण लेबल।
  • बस स्टेशनों पर समय सारणी।
  • रेलवे स्टेशनों पर समय सारणी।
  • इलेक्ट्रॉनिक बिलबोर्ड।
  • मोबाइल एवं लैपटॉप में आप गूगल प्ले से ई-पेपर डाउनलोड कर सकते हैं।

ई-पेपर के कुछ बड़े फ़ायदे

अगर ई पेपर के फायदों की हमे बात करनी है तो हमे निम्नलिखित शीर्षकों पर पूरी तरह से ध्यान देना होगा:

ई-पेपर प्रकृति का संरक्षण करता है

ये तकनीकी का सबसे बड़ा दिखाई देने वाला लाभ यह हुआ है कि इसके आने से तीव्र गति से हो रहे जंगलो के विनाश में कमी आई है, जिसके कारण हमारे वनों की प्रतिशत की मात्रा बढ़ी है जिससे प्रकृति में पेड़ों की संख्या बढ़ी है।

ई-पेपर

वन और पेड़ पौधे हमारे जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि वनों से हमें ऑक्सीजन तथा खाद्य पदार्थों की पूर्ति होती है हम ऑक्सीजन के बिना एक पल भी जिंदा रहे नहीं सकते। अतः जब हम जीवित ही नहीं रहेंगे तो ऐसे पेपर का फायदा क्या है। वैसे हम बता दे कि कंप्यूटर की कुछ सीमाएं थी जिनको दूर करने के लिए भी इलेक्ट्रॉनिक पेपर विकसित किया गया था। लेकिन इसका वर्तमान उपयोग अनेकों तरीकों से हमें फायदा पहुंचा रहा है।

ई-पेपर पढ़ने में सुविधाजनक है

ई-पेपर

अगर हम पाठन में बात करे तो ये सामान्य न्यूज़ पेपर की तरह ही होता है। लेकिन सामान्य न्यूज़ पेपर से बेहतर इसीलिए भी कहा जा सकता है क्योंकि ये डाउनलोड भी हो सकता है। इसकी किसी लाइन को हाईलाइट भी किया जा सकता है। इसको हम ज़ूम करके भी पढ़ सकते हैं। एक सामान्य न्यूज़ पेपर में ये फीचर्स नहीं होते हैं। ई-पेपर को हम मोबाइल के माध्यम से किसी भी स्थान पर और किसी भी समय पढ़ सकते हैं।

ई-पेपर के प्रत्यक्ष फायदे

इलेक्ट्रॉनिक पेपर से होने वाले लाभ हमें प्रत्यक्ष रूप से देखने को मिलते हैं जिसे निम्नलिखित रूप से हम समझ सकते है;

  • ई-पेपर से समय एवं पैसा दोनों की बचत होती है।
  • ई-पेपर को अपने साथ ले जाना बहुत आसान है क्योंकि इसकी एप्लीकेशन को आप मोबाइल में डाउनलोड कर सकते हैं, जिसके द्वारा आप कहीं पर भी उसे पढ़ सकते हैं।
  • वर्तमान समय में सरकार द्वारा प्रतियोगी परीक्षाओं में इलेक्ट्रॉनिक पेपर का ही प्रयोग किया जा रहा है, जिससे किसी भी प्रकार की चोरी होने की कोई संभावना नहीं होती है।
  • ई-पेपर के जरिए आप तुरंत घटने वाली घटनाओं को जान सकते हैं।
  • ई-पेपर, इलेक्ट्रॉनिक बोर्ड, इलेक्ट्रॉनिक मैगजीन में एक क्लिक के द्वारा ही डाटा को बदला जा सकता है।
  • इलेक्ट्रॉनिक बोर्ड, पेपर या मैगजीन को पढ़ने के लिए इलेक्ट्रिसिटी की जरूरत नहीं होती क्योंकि ये ऑफलाइन भी काम करता है।
  • आजकल इलेक्ट्रॉनिक साइन बोर्डों का इस्तेमाल किया जा रहा है, जो आपको दूर से ही नजर आ जाता है।
  • ई-पेपर से पोलूशन भी नहीं होता क्योंकि साधारण पेपर इकट्ठा होने पर जला दिए जाते हैं, जिससे प्रदूषण होता है।
  • ई-पेपर, साधारण पेपर के मुकाबले ज्यादा सुरक्षित होते हैं।

ई-पेपर तकनीकी फायदे

ई-पेपर हमें काफी सारे तकनीकी फायदे प्रदान करता है, जिनमें कुछ शामिल हैं;

  • कागज जैसा दिखने वाला।
  • ज़ूम करके भी पढ़ा जा सकता है।
  • ऑफलाइन पढ़ने और डाउनलोड करने का फीचर
  • वास्तव में उच्च परिभाषा।

ये ई-पेपर के कुछ ऐसे लाभ थे जो प्रत्यक्ष रूप से दिखाई देते है जो कि हमारे दैनिक जीवन मे बेहद ही ज्यादा फ़ायदेमंद है।

पारंपरिक अख़बार और ई-पेपर की तुलना

तुलना करना एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंश है किसी भी समकालीन विषयों के बीच मे, आगे हम ई-पेपर की तुलना उसकी के समकालीन पारंपरिक अखबारों से करने वाले हैं।

ई-पेपर

तुलनात्मक फायदें

अगर दोनों पक्षों की तुलना की जाए तो आज के समय में इंटरनेट के माध्यम से हमें ई-पेपर मुफ्त में प्राप्त हो जाता है जिसके कारण हमारे पैसे की बचत होती है और हमें तुरंत घटने वाली घटनाओं की जानकारी भी इंटरनेट के माध्यम से जल्दी प्राप्त हो जाती है, जबकि पारंपरिक तरीके से आने वाला पेपर 24 घंटे बाद ही हमें वह सारी जानकारी देता है जो ई-पेपर के माध्यम से हमे पहले ही मिल चुकी होती है इसके अलावा भी हम ई-पेपर के ही संदर्भ को लेकर समझें तो;

आधुनिक समय में पेपर या मैगजीन को अपने साथ लेकर ऑफिस या काम पर जाना संभव नहीं है। इसके लिए ई-पेपर ही ऐसी तकनीक है जिसका प्रयोग हम ऑफिस या काम के दौरान कर सकते हैं। क्योंकि वर्तमान समय में प्रत्येक व्यक्ति फोन या लैपटॉप आवश्यकता है जिसके माध्यम से ई-पेपर को पढ़ना आसान हो गया है। किसी के पास इतना टाइम नहीं है कि वह बैठकर 1 घंटे तक अखबार या मैगजीन पढ़ें इसलिए जब तक नौकरी करने वाले व्यक्ति अपने मोबाइल या लैपटॉप की मदद से ही विश्व के बारे में जान लेते हैं।

यह कुछ तुलनात्मक कारण काफी है, ई पेपर को पारंपरिक तरीके से आने वाले अखबारों की तुलना में प्रभावी दिखलाने के लिए।

ई-पेपर से सम्बंधित अधिक जानकारी के लिए देखें हमारी यूट्यूब वीडियो:

Subscribe 7k Network for more Videos related to News Portal Development

ई – पेपर के लिए किन चीजों की जरुरत पड़ती है?

इलेक्ट्रॉनिक पेपर का उपयोग करने के लिए हमें इन चीजों की जरुरत पड़ती है:

  • इलेक्ट्रॉनिक पेपर या मैगजीन को पढ़ने के लिए हमें इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की आवश्यकता होती है। साथ इसकी सुविधा लेने के लिए हमें एक बार कुछ रुपए का खर्च करना पड़ता है।
  • इलेक्ट्रॉनिक पेपर या मैगजीन को पढ़ने के लिए हमें इंटरनेट की आवश्यकता पड़ती है। अगर आपके इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में इंटरनेट नहीं है तो आप इसे पढ़ नहीं सकते।
  • इसे आप डाउनलोड कर सकते हैं। ऑफलाइन पढ़ सकते हैं। ज़ूम फीचर का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसकी किसी पंक्ति पर हाईलाइट भी कर सकते हैं।

तो ये थी ई-पेपर के बारे में कुछ जानकारियां। यदि आप एक पत्रकार हैं पत्रकारिता क्षेत्र में अपने आपको तकनीकी रूप से मजबूत करने के लिए, न्यूज पोर्टल या वेबसाइट(News Portal Development) अथवा ई-पेपर डेवलेपमेंट करवाने के लिए सोच रहे है तो आप हमारी कम्पनी 7k Network से संपर्क कर सकते है। न्यूज़ पोर्टल से सम्बंधित अधिक जानकरी के लिए बने रहिए 7k Network के साथ।

Get Free Consultation Now!

Take a chance on us, don’t wait and book a free consultation call. There is nothing to lose, only a chance of getting closure to make your news industry a big hit.