न्यूज एंकर, रिपोर्टर, जर्नलिस्ट और एडिटर में क्या फर्क है?

न्यूज एंकर, रिपोर्टर, जर्नलिस्ट और एडिटर में क्या फर्क है? पत्रकारिता के क्षेत्र में अलग पदों की अलग अलग जिम्मेदारियां होती है। आज हम आपको बताएंगे कि; एंकर, रिपोर्टर, एडिटर और जर्नलिस्ट में क्या फर्क है और इनमे क्या अंतर होता है क्योंकि हमने कई बार लोगों को इन सभी में कंफ्यूज होते हुए देखा है।

जर्नलिस्ट
जर्नलिस्ट

लेकिन हम आपको बता दे कि इनमे कंफ्यूज होने जैसी कोई बात नहीं है, इनमे कुछ माइनर डिफरेंस होते हैं, जिन्हे आज हम आपको समझाने की कोशिश करेंगे बस अंत तक बने रहिए हमारे साथ इस आर्टिकल में।

न्यूज एंकर और न्यूज रिपोर्टर

जर्नलिस्ट
जर्नलिस्ट

न्यूज एंकर कौन है?

हमारे दर्शकों को हम बता दे की न्यूज एंकर का मुख्य काम न्यूज़ चैनल्स के माध्यम से देश-विदेश में घटित होने वाले घटनाओ, विशेष जानकारियों के बारे में दर्शकों को जानकारी देना होता है। एंकर को शुद्ध एवं स्पष्ट आवाज के साथ अच्छे से खबरों को बोलना पड़ता है जिससे दर्शक आपके न्यूज़ चैनल से जुड़े रहें। हर कोई न्यूज़ एंकर बनना चाहता हैं, लेकिन इतना आसान नहीं होता है क्योंकि इसमें काफी स्किल्स चाहिए होते है।

न्यूज रिपोर्टर कौन है?

न्यूज रिपोर्टर उस व्यक्ति को कहते हैं जो समसामयिक घटनाओं, लोगों, एवं मुद्दों आदि पर सूचना एकत्र करता है एवं जनता में उसे विभिन्न माध्यमों की मदद से प्रचार करता है। इस कार्य को न्यूज रिपोर्टिंग कहते हैं। न्यूज रिपोर्टर को हम संवाददाता के नाम से भी जानते और सुनते है।

अपने न्यूज पोर्टल(News Portal) पत्रकारों को हम बता दे कि; एक न्यूज एंकर और न्यूज रिपोर्टर दोनों, न्यूज चैनलों का हिस्सा होते हैं जिसमे कभी-कभी न्यूज एंकर एक रिपोर्टर की भूमिका निभा लेता है लेकिन इसके एबज में ऐसा बहुत ही कम होता है कि कोई न्यूज रिपोर्टर, किसी न्यूज रूम में एंकर पद की शोभा बढ़ाए और खबर पढ़े। हालांकि एंकर और रिपोर्टर दोनों का कार्यशैली एक दूसरे का पूरक है क्योंकि न्यूज एंकर ही न्यूज रिपोर्टर की रिपोर्टिंग को प्रेजेंट करता है, लेकिन वे कई मायनों में ये दोनों पद बिल्कुल अलग हैं जैसे फील्ड और ऑफिस वर्क के मामले में।

न्यूज एंकर और न्यूज रिपोर्टर में क्या फर्क होता है?

हमारे यूजर्स को हम यह बता दे कि एक न्यूज रिपोर्टर वह होता है जो वर्तमान की घटनाओं पर समाचार एकत्र करता है और एक न्यूज एंकर वह व्यक्ति होता है जो बस कैमरे के सामने बैठता है और लोगों तक खबरे पहुंचाता है।

हम बता दे कि एक न्यूज एंकर को अन्य नामो में एंकरमैन/ एंकर वुमन, न्यूज प्रेजेंटर और न्यूज रीडर भी कहा जाता है।

  • एक न्यूज रिपोर्टर खबर एकत्र करने के लिए यात्रा करता है जबकि न्यूज एंकर सिर्फ स्टूडियो में बैठता है और एकत्रित की गई खबरों को पढ़ता है।
  • एक न्यूज रिपोर्टर को प्रेस कॉन्फ्रेंस, इंटरव्यू, हैंडआउट्स और अन्य तरीकों जैसे कई तरीकों से खबर मिलती है जबकि न्यूज रिपोर्टरों को अपनी आवाज खुद उठानी पड़ती है।
  • न्यूज रिपोर्टर को अपने द्वारा जुटाई गई खबरों की पटकथा भी लिखनी पड़ती है जबकि एंकर को स्क्रिप्ट नहीं लिखनी होती है।
कई बार खबर लिखने का काम एंकर भी करता है लेकिन वह दुर्लभ मामले ही होते है।

हम न्यूज एंकर और न्यूज रिपोर्टर में ज्यादा बेहतर किसे माने ?

हमारे यूजर्स को हम बता दे कि दोनो नौकरियों की तुलना करते समय, एक न्यूज एंकर का काम अधिक प्रतिष्ठित और उच्च भुगतान वाला होता है क्योंकि एक न्यूज एंकर बनने के लिए जरूरी स्किल्स रिपोर्टर से अलग होती हैं।

न्यूज एंकर बनने की स्किल्स

एक न्यूज एंकर बनने के निम्न स्किल्स है;

  1. न्यूज एंकर(News Anchor) बनने के लिए व्यक्ति का रूप-रंग या व्यक्तित्व आकर्षक होना चाहिए क्योंकि दर्शकों द्वारा उसका चेहरा अधिक देखा जाता है।
  2. एक न्यूज एंकर में तनावपूर्ण परिस्थितियों में भी कैमरे का सामना करते हुए हमेशा सहज रहने की क्षमता होनी चाहिए।
  3. एक न्यूज एंकर के पास अच्छा प्रेजेंट ऑफ माइंड होना चाहिए।

न्यूज रिपोर्टर बनने की स्किल्स

एक न्यूज रिपोर्टर बनने के निम्न स्किल्स है;

  • एक न्यूज रिपोर्टर(News Reporter) के पास खबर सूंघने की नाक होनी चाहिए।
  • न्यूज रिपोर्टर को अपने स्रोतों के साथ अच्छे संपर्क बनाए रखने होते हैं जिससे किसी दूसरे व्यक्ति को खबर मिलने से पहले ही उन्हें खबर मिल जाए।
  • भाषा पर भी न्यूज रिपोर्टर की अच्छी पकड़ होनी चाहिए।

जर्नलिस्ट कौन है?

जर्नलिस्ट(Journalists) वो व्यक्ति होता है, जो खबरों को ढूंढता है और रिपोर्टिंग के किए एकत्र करता है, ग्राउंड जीरो से लेकर केंद्रीय मुख्यालय तक खबरों तक पहुँचाने के पूरे कार्यभार की पहली शुरुआत ही एक जर्नलिस्ट के माध्यम से होती है।

जर्नलिस्ट
जर्नलिस्ट

जर्नलिस्ट और रिपोर्टर में क्या फर्क है?

एक जर्नलिस्ट वह व्यक्ति होता है, जो सार्वजनिक मामलों की जानकारी एकत्र करता है, और उनका प्रचार मीडिया द्वारा करता है जबकि रिपोर्टर वो व्यक्ति है, जो जानकारी के लिए सीधे पब्लिक से कम्यूनिकेट करता है।

जर्नलिस्ट कोई भी जानकारी सार्वजनिक या गुप्त दोनों तरह से एकत्र करते हैं और इन्हे न्यूज़, अखबार आदि के जरिये लोगों तक पहुंचाते है और अपने काम से मीडिया की मदद करते है जबकि रिपोर्टर वह हैं जो इंटरव्यू, न्यूज कांफ्रेंस और न्यूज इवेंट्स में शामिल होते हैं और लोगों के सामने आ के जानकारी देते हैं सीधे शब्दों में कहे तो जर्नलिस्ट जानकारी एकत्र कर के लाते हैं और रिपोर्टर उस जानकारी को पब्लिक के सामने आकर कर के बताता है।

कार्यशैली के अनुसार जर्नलिस्ट की तुलना

हमारे दर्शकों को हम बता दे कि जर्नलिस्ट वे सभी हैं जो इसका उपभोग करने वालों तक समाचार पहुंचाने का काम करते हैं, चाहे इलेक्ट्रॉनिक रूप से, समाचार पत्र पढ़कर, रेडियो सुनकर, टेलीविजन देखकर या फोटो जर्नलिस्ट द्वारा ली गई तस्वीरों को देखकर।

कार्यशैली के अनुसार न्यूज रिपोर्टर की तुलना

एक न्यूज रिपोर्टर एक और पत्रकार है जो बाहर जाकर समाचार की रिपोर्ट करेगा और इसे लिखेगा और इसे उन रूपों में से एक में वितरित करेगा।

एडिटर कौन होता है?

  • हमारे यूजर्स को हम यह बता दे कि समाचार / मीडिया के संदर्भ में, एक एडिटर लेखकों(Writers), पत्रकारों, फोटोग्राफरों(Photographers), वीडियोग्राफरों(Videographer) आदि की देखरेख करता है।
  • वह आमतौर पर कहानियों को कवर करने के लिए असाइन करता है और उन कहानियों को एडिट करता है।
  • एडिटर(Editor) यह तय करता है कि खबरों में उन्हें क्या चलाना है और क्या नहीं।
  • एडिटर के पास उन लोगों की तुलना में अधिक शक्ति और प्रभाव होता है जो रिपोर्ट कर रहे हैं और/या कहानियां लिख रहे हैं।
  • एडिटर पारंपरिक मीडिया के द्वारपाल हैं।
  • एडिटर अपने साथी रिपोर्टरों को यह भी सिखाते हैं कि कहानियों को कैसे खोजना, रिपोर्ट करना और लिखना है।
  • प्रत्येक पत्रकार को एक अच्छे एडिटर की आवश्यकता होती है।
  • एक अच्छा एडिटर, एक लो ग्रांट टाइप होता है जो चीजों को तब तक वापस लाएगा जब तक आप इसे सही नहीं करते।

एडिटर अथवा संपादक के विभाग के अनुसार कार्य

हमारे दर्शकों को हम बता दे कि पत्रकारिता जगत में एक एडिटर की विशिष्ट भूमिका है।

  1. एडिटर का काम एक समाचार संगठन, या उसके कुछ हिस्से की पूरी देखरेख करना और यह सुनिश्चित करना है कि यह सुचारू रूप से कार्य करे।
  2. मेन एडिटर या मैनेजिंग एडिटर के पास संपूर्ण प्रकाशन या समाचार संचालन के लिए जिम्मेदारियां होती हैं।
  3. एक शहर के एडिटर के पास उसके नीचे पत्रकारों की एक टीम होती है और वह उनके साथ दैनिक रूप से काम करता है।
  4. एडिटर अपने नीचे प्रत्येक जर्नलिस्ट को कहानियां सौंपेगा और उनके साथ काम करके दैनिक कवरेज का सबसे अच्छा पैकेज तैयार करेगा।
  5. एडिटर की नजर पुलिस बीट (अपराध, आदि) को कवर करने से लेकर सिटी हॉल, और स्थानीय कार्यकर्ता समूहों तक तथा अन्य घटनाओं या किसी भी प्रकार के अन्य समारोहों तक होगा।
  6. सिटी एडिटर खोजी कार्य जैसे गरीबी, जन समस्या, नशाखोरी, भ्रष्टाचार, आदि पर कवरेज करने के लिए पत्रकारों की एक टीम भी नियुक्त कर सकता है।
  7. जब रिपोर्टर अपनी कहानियां देते हैं, तो एडिटर यह सुनिश्चित करता है कि वह खबर चलने लायक है या नहीं।
  8. एडिटर खबरों में जर्नलिस्ट के साथ काम करता है ताकि खबरें अच्छी तरह से लिखी गई, पूरी और रिलेटिव हैं।

एडिटर से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी

  • एक समाचार संगठन के विभिन्न भागों के अपने एडिटर होते हैं, जिनमें से प्रत्येक अलग-अलग तरीकों से काम करेगा। खेल एडिटर, बुक एडिटर, रिसर्च एडिटर आदि हैं।

बड़े समाचार संगठनों में विभिन्न स्थानों पर एडिटर के साथ, “ब्यूरो चीफ” होते हैं जिनके पास एडिटर के रूप में सेवा करने की जिम्मेदारी होती है।

  • हम बता दे कि एक एडिटर अक्सर उन पत्रकारों के लिए संरक्षक और अधिवक्ता के रूप में काम करते हैं जिनके साथ वे काम करते हैं।

निष्कर्ष

आज हमने अपने इस आर्टिकल में एक जर्नलिस्ट, एक न्यूज एंकर, एक न्यूज रिपोर्टर और एडिटर के बीच के फर्क को जाना साथ ही उनकी जिम्मेदारियों से हमने आप सभी पाठकों को अवगत कराया।

ऊपर बताई गई सारी जिम्मेदारियां पत्रकारिता जगत की बिल्कुल ही महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां है जिसको हर पत्रकारिता करने वाली संस्थान को साथ लेकर ही कार्य करना पड़ेगा। अगर आपके मन मे अभी भी पत्रकारिता से संबन्धित कोई प्रश्न आ रहे है तो आप हमें कमेंट के माध्यम से उन प्रश्नों को पूछ सकते है।

हमारी कम्पनी 7k नेटवर्क भारत की प्रतिष्ठित न्यूज वेबसाइट(News Portal Website), न्यूज पोर्टल एवं न्यूज एप डेवलपमेंट करने वाली कम्पनी है जो काफी किफायती कीमत में अपने ग्राहकों को शून्य त्रुटि के साथ अपनी सेवाओं को उपलब्ध कराती है। अगर आपको भी अपने लिए न्यूज वेबसाइट, न्यूज पोर्टल या एक पत्रकार बनकर न्यूज ऐप समेत तीनो प्लेटफॉर्म पर खुद को स्थापित करना है तो आप हमसे संपर्क कर सकते है।

Get Free Consultation Now!

Take a chance on us, don’t wait and book a free consultation call. There is nothing to lose, only a chance of getting closure to make your news industry a big hit.