न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट में क्या अंतर है?

न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट(News Portal Website) में क्या अंतर है? दोस्तों अक्सर ही आपको यह नाम सुनने को मिलता होगा कि इस पोर्टल में रजिस्ट्रेशन कर लीजिए या इस पोर्टल में शिकायत दर्ज कर लीजिए। पत्रकारिता(Journalism) जगत में भी न्यूज पोर्टल या वेब पोर्टल जैसे शब्द अक्सर सुनने को मिल जाते हैं, लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा है कि असल मे ये पोर्टल है क्या चीज?

न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट में क्या अंतर है?
न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट में क्या अंतर है?

चलिए आज हम आपको विस्तार से बताते है की पोर्टल क्या है और हम यह भी जानेंगे कि पोर्टल और वेबसाइट(News Portal Website) में फर्क क्या होता है। बस बने रहिए अंत तक हमारे साथ।

न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट में क्या अंतर है?

न्यूज़ पोर्टल

न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट में क्या अंतर है?
न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट में क्या अंतर है?
  • हमारे यूजर्स और पाठकों को हम बता दे कि दरअसल पोर्टल भी एक प्रकार का वेबसाइट ही है जहाँ अलग-अलग माध्यमों से कई सारे सूचनाओं को एकत्रित कर एक एकल प्लेटफार्म पर उपलब्ध कराया जाता है, परन्तु इसे एक्सेस करने के लिए यूजर को लॉग इन करना पड़ता है जिसके लिए यूजर नेम और पासवर्ड की आवश्यकता पड़ती है।
  • पोर्टल एक प्रकार का विशेष रूप से डिजाईन किया गया वेबसाइट होता है जो किसी विशेष काम के लिए उपयोग होता है। विदित हो कि आजकल, लगभग हर व्यवसाय या संगठन में पोर्टल की जरुरत होती है जिसमे वहां के कामगार को एक ही स्थान पर सारी जानकारियाँ मिल जातीं हैं, वह स्थान पोर्टल कहलाता है।
अगर हम उदाहरण के साथ समझे तो किसी हॉस्पिटल के लिए एक पेशेंट पोर्टल बनाया जा सकता है जहां पर वहां के डॉक्टर्स लॉग इन करके उस हॉस्पिटल के सारे मरीजों की जानकारी एक ही स्थान पर देख सकते हैं। हम बता दे कि यह एक प्रकार का प्राइवेट पोर्टल होगा जो सिर्फ उस हॉस्पिटल के स्टाफ के लिये उपयोगी होगा।

इन सभी के अलावा कई सारे पब्लिक पोर्टल्स होते हैं जहाँ पर कोई भी अपना अकाउंट बना कर पोर्टल की सुविधाओं का लाभ उठा सकता है और अपनी जरूरतों को पूरा कर सकता है।

कैसे काम करते है न्यूज़ पोर्टल?

  • यूजर्स को हम बता दे कि ज्यादातर पोर्टल्स किसी विशेष कैटेगरी पर बनाये जाते हैं और यूजर को पर्सनलाइज्ड जानकारी दिया जाता है, यानी यूजर को उनके जरुरत के अनुसार अलग-अलग तरह की जानकारियाँ दी जातीं हैं।
  • उदाहरण के रूप में जॉब पोर्टल्स(Job Portals) को हम ले सकते है जहाँ सिर्फ नौकरी और रोजगार जैसी सूचनाएं यूजर तक पहुंचाई जाती हैं, लेकिन हर नौकरी की सूचना हर यूजर को नही भेजी जाती क्योंकि यह बात निर्भर करता है यूजर की योग्यता पर।
  • यूजर्स naukri.com जैसे जॉब पोर्टल पर जब रजिस्टर करते हैं तो वहाँ उनका रिज्यूम भी डाल सकते हैं और उनकी शिक्षा, अनुभव और योग्यता की जानकारी दे सकते हैं जिसके बाद उनके द्वारा दी गयी इन सारी जानकारियों के अनुसार उनके योग्य नौकरी की सूचनाएं उन्हें दी जाती हैं।

इन सभी पोर्टल्स को डेस्कटॉप, मोबाइल फ़ोन जैसे किसी भी डिवाइस के द्वारा इन्टरनेट के जरिये कहीं से भी उपयोग किया जा सकता है। अतः इस तरह पोर्टल का संचालन होता है।

न्यूज़ पोर्टल के प्रकार

न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट में क्या अंतर है?
न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट में क्या अंतर है?

हमारे यूजर्स को हम बता दे कि वैसे तो पोर्टल कई प्रकार के होते हैं लेकिन उनमे से प्रमुख प्रकारों के नाम नीचे दर्शाए गये हैं;

वर्टिकल पोर्टल

यूजर्स को हम बता दे कि इस प्रकार के पोर्टल में किसी पर्टिकुलर विषय, इंडस्ट्री, या एरिया के बारे में जानकारी होती है। उदाहरण के लिए यदि कोई बिज़नस पोर्टल है तो उसमे केवल बिज़नस के बारे में ही जानकारियाँ प्रदान की जाएंगी।

हॉरिजोंटल पोर्टल

यूजर्स को हम बता दे कि इसे “मेगा पोर्टल” भी कहा जाता है, क्योंकि यहाँ काफी सारे टॉपिक के बारे में कंटेंट उपलब्ध होते हैं।

एंटरप्राइजेस पोर्टल

यूजर्स को हम बता दे कि यह एक प्राइवेट पोर्टल होता है जो किसी संगठन के कर्मचारियों के लिए बनाया जाता है। इस पोर्टल पर कामगारों की सुविधा और सहायता के लिए तरह-तरह की जानकारियां और सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती हैं।

नॉलेज पोर्टल

अपने यूजर्स को हम बता दे कि नॉलेज पोर्टल का यही उद्देश्य होता है की सम्बंधित सभी जानकारियों को सही और आसान तरीके यूजर तक पहुँचाया जाए जिससे कार्यो का संचालन ठीक ढंग से हो सके।

मार्केट प्लेस पोर्टल

यूजर्स को हम बता दे कि मार्केट प्लेस पोर्टल का उपयोग बिजनेस टू बिजनेस (B2B), बिजनेस टू कस्टमर (B2C) के सहयोग और सपोर्ट के लिए किया जाता है।

उदाहरण के लिए ई कॉमर्स की साइट जहाँ कस्टमर आसानी से प्रोडक्ट को ढूंढ पाता है, जिसे हम मार्केटप्लेस पोर्टल कह सकते है।

न्यूज़ पोर्टल की विशेषताएं

हम निम्नलिखित रूप से पोर्टल की विशेषताओं को जान सकतें है;

लॉगइन की अनिवार्यता

पोर्टल में मौजूद सभी सुविधाओं को पाने के लिए यूजर को उसमे लॉगइन करना अनिवार्य है।

पोर्टल मेम्बेर्स एक्सेस

यूजर्स को हम बता दे कि यदि आप रजिस्टर्ड मेम्बर नही हैं तो आप इस पोर्टल पर एक्सेस नही कर पायेंगे।

पर्सनाइज्ड इन्फॉर्मेशन

यूजर्स को हम बता दे कि प्रत्येक यूजर सारी जानकारियों को देख नही सकता, एक्सेस प्राप्त पोर्टल यूजर द्वारा उसके रोल और परमिशन के अनुसार ही जानकारियां दिखाई जाती हैं।

डोमेन स्पेसिफिक

डायनमिक कंटेंट

हम बता दे कि यह किसी एक कैटेगरी या एक विशेष क्षेत्र के लोगों के लिए हो सकता है।

अपने यूजर्स को हम बता दे कि एक वेबसाइट के मुकाबले पोर्टल पर जानकारियां लगातार बदलते रहती हैं क्योंकि अलग-अलग यूजर को उनके काम की ही जानकारी और सेवाएं दी जाती हैं।

कम्युनिकेशन

कम्युनिकेशन भी पोर्टल का एक फीचर होता है जिससे सारे सदस्य आपस में बात कर सकते हैं और एक दुसरे के संपर्क में रह सकते हैं।

पोर्टल्स के कुछ उदाहरण

अपने यूजर्स को हम बता दे कि पोर्टल के काफी सारे उदाहरण हैं जिनमे से कुछ ऐसे भी हैं जिन्हें हम हर रोजाना प्रयोग करते हैं। ऐसे पॉपुलर पोर्टल्स के नाम नीचे दिए गये हैं;

  • गूगल
  • याहू
  • फेसबुक
  • यू ट्यूब
  • ट्विटर
  • ब्लॉगर
  • अमेजॉन
  • फ्लिपकार्ट
  • पे टीएम
  • नौकरी
  • मॉन्स्टर
  • एसबीआई ऑनलाइन
  • आधार कार्ड पोर्टल
  • टाइम्स ऑफ इंडिया
  • 99एकड़
  • यात्रा

ऊपर दर्शाए गए सारे पोर्टल्स अपने यूजर्स को पर्सनलाइज्ड इन्फॉर्मेशन प्रोवाइड करवाते हैं अर्थात जो यूजर चाहता है वही जानकारी दिया जाता है। जैसे यदि हम गूगल की बात करें तो यूजर के देश और क्षेत्र और पर्सनल सेटिंग्स के अनुसार सर्च रिलेट दिखाता है। इसी तरह से ऊपर दर्शाए गए सारे पोर्टल काम करते है।

पोर्टल और वेबसाइट में अंतर

न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट में क्या अंतर है?
न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट में क्या अंतर है?

वेबसाइट और पोर्टल्स में हम निम्न प्रकार से भेद जान सकते है;

  • वेबसाइट को कोई भी पब्लिकली एक्सेस कर सकता है जबकि पोर्टल प्राइवेट होता है और इसे केवल रजिस्टर्ड यूजर ही एक्सेस कर सकते हैं।
  • वेबसाइट में लॉग इन करने की जरुरत नही पडती जबकि पोर्टल में लॉग इन करना पड़ता है।
  • वेबसाइट में कंटेंट सभी के लिए एक समान होते हैं जबकि पोर्टल में अलग-अलग यूजर के लिए अलग-अलग कंटेंट हो सकते हैं।
  • वेबसाइट में कम्युनिकेशन की सुविधा नही होती है केवल टू वे कम्युनिकेशन होता है जबकि यूजर्स पोर्टल पर बात कर सकते हैं।
  • वेबसाइट का उद्देश्य किसी कंपनी, प्रोडक्ट आदि के प्रचार के लिए किया जाता है इसलिए इस पर अधिक से अधिक ट्रैफिक भेजने की कोशिश की जाती है जिससे यह ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुँच सके, जबकि एक पोर्टल का काम यूजर्स, क्लाइंट्स, एम्प्लोयी आदि को सुविधाएँ प्रदान करना होता है अर्थात इसे विशेष ग्रुप के लोगों को ध्यान में रख कर बनाया जाता है।

निष्कर्ष

तो आज के इस आर्टिकल में हमने जाना की न्यूज़ पोर्टल और वेबसाइट में क्या अंतर् है? उसी कंफ्यून को दूर करने के लिए हमने पोर्टल को विस्तार से समझाया और साथ ही पोर्टल व वेबसाइट के मध्य जो डिफरेंस होता है उसको को भी बताया। आशा करते हैं कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद हमारी दी गयी यह जानकारी आपको पसन्द आएगी। अगर आप पत्रकार हैं और अपने लिए न्यूज़ पोर्टल डेवलपमेंट(News Portal Development) की सर्विस चाहते हैं तो हमसे सम्पर्क कर सकते हैं।

Get Free Consultation Now!

Take a chance on us, don’t wait and book a free consultation call. There is nothing to lose, only a chance of getting closure to make your news industry a big hit.