पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?

Table of Contents

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है: वर्तमान की पत्रकारिता अब डिजिटल पत्रकारिता(Digital Journalism) बन गई है। आवाम तक न्यूज़ पहुँचाने का माध्यम अब डिजिटल हो चुका है। पत्रकारिता जगत में मेन स्ट्रीम मीडिया के अतिरिक्त भी अन्य कई विकल्प आ चुके हैं। इन सभी विकल्पों में पत्रकारिता के लिए यू ट्यूब(YouTube for Journalism) एक महत्वपुर्ण विकल्प बनकर सामने आ रहा है। शुरुआत तो स्ट्रगलर पत्रकारों से हुआ था परन्तु वर्तमान में यू ट्यूब से पत्रकारिता करने वाले पत्रकारों में, बड़े-बड़े ऊंचे ओहदे वाले नाम शुमार हो चुके हैं। यू ट्यूब चैनल(YouTube Channel) के माध्यम से पत्रकारिता करना, वर्तमान के लिए एक क्रांतिकारी कदम के रूप में देखा जाने लगा है।

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?

ऐसे नाम, जो YouTube से पत्रकारिता करते हुए शोहरत पा रहें है

यूट्यूब चैनल के जरिए निम्नलिखित पत्रकारों ने ख़्याति हासिल की हैं:

दि लल्लन टॉप (The Lallantop)

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?

जेएनयू(JNU) से अपनी पढ़ाई पूरी करने वाले सौरभ द्विवेदी(Saurabh Dwivedi) एक अंजान चेहरा हुआ करते थे परन्तु उन्होंने फिर दि लल्लनटॉप (The Lallantop) के नाम से यू ट्यूब चैनल बनाकर अपनी पत्रकारिता की शुरुआत की।

अपने साहित्यिक शब्दों के सटीक प्रयोग और देसीपन के अलग स्टाइल की वजह से सौरभ द्विवेदी (Saurabh Dwivedi) समेत उनका चैनल दि लल्लनटॉप (The Lallantop) आज मिलियन्स फॉलोवर्स के साथ सर्वश्रेष्ठ डिजिटल न्यूज चैनल्स की सूची में अंकित है।

उल्टा चश्मा (Ulta Chashma)

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?

पत्रकार प्रज्ञा मिश्रा(Pragya Mishra) द्वारा चलाया जा रहा यू ट्यूब चैनल उल्टा चश्मा(Ulta Chashma) आज यू ट्यूब शीर्ष चैनलों में प्रसिद्धि प्राप्त कर रहा है। मिलियन्स फॉलोवर के साथ प्रज्ञा समेत उनका चैनल शीर्ष यू ट्यूब चैनल्स में गिना जाता है।

द वायर (The Wire)

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?

यू ट्यूब न्यूज चैनल्स जगत में “द वायर” के लाखों फॉलोवर्स है तथा टॉप के चैनल्स में द वायर की भी गिनती की जाती है। बड़े बड़े नामी पत्रकारों को द वायर ने मुख्यधारा में देने का कार्य किया है।

द क्विंट (The Quint )

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?

द वायर के ही भांति द क्विंट(The Quint) ने भी अपने न्यूज चैनल का माध्यम यू ट्यूब को ही बनाया था। वर्तमान में बड़े-बड़े ऑडिएंस के साथ बड़े-बड़े नामी पत्रकारों को मुख्यधारा में लाने का कार्य कर रहा है।

न्यूज क्लिकइन (News Clickin)

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?

न्यूज क्लिकइन (News Clickin) यू ट्यूब न्यूज चैनल के जगत का बड़ा नाम बन चुका है। नामी पत्रकारों के साथ अपनी स्वतंत्र पत्रकारिता अपने यू ट्यूब चैनल के माध्यम से करने का कार्य न्यूज क्लिकइन का है जो टॉप यू ट्यूब चैनल की लिस्ट में शुमार है।

हमने तो चंद नाम गिनवाएं उदाहरण स्वरूप जो यू ट्यूब के माध्यम से पत्रकारिता करते हुए पत्रकारिता जगत में अपना महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त कर चुके है। ऐसे तमाम पत्रकार यू ट्यूब की दुनिया मे मौजूद है जिनके यू ट्यूब चैनल अक्सर ट्रेंड कर जाते है।

ऐसे पत्रकार जो मेन स्ट्रीम मीडिया को छोड़कर यू ट्यूब की पत्रकारिता को अपनाए हैं

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?

अजित अंजुम (Ajit Anjum)

पहले अजित अंजुम (Ajit Anjum) टी.वी 9 (TV9) समूह के लिए पत्रकारिता किया करते थे। बाद में उन्होंने अपने नाम से खुद का यू ट्यूब चैनल बनाकर पत्रकारिता करना प्रारंभ किया। आज वो देश के माने जाने यू ट्यूब से पत्रकारिता करने वाले पत्रकारों में गिने जाते हैं।

अभिसार शर्मा (Abhishar Sharma)

पहले अभिसार शर्मा आज तक (Aaj Tak) एवं एबीपी न्यूज (Abp News) के लिए पत्रकारिता किया करते थे। वर्तमान में वह मेन स्ट्रीम मीडिया से परे अपने खुद के यू ट्यूब चैनल से पत्रकारिता करने वाले नामी पत्रकारों शुमार हो चुके है।

पुण्य प्रसून वाजपेयी (Punya Prashoon Vajpayee)

पुण्य प्रसून बाजपेयी एबीपी न्यूज मे प्राइम टाइम के प्रसिद्ध संचालक और पत्रकार हुआ करते थे। वर्तमान में वह चैनल को त्याग कर खुद के यू ट्यूब चैनल में पत्रकारिता कर रहें है और उनकी भी एक अच्छी खासी ऑडिएंस है।

स्व. विनोद दुआ (Vinod Dua)

पिछले वर्ष ही दिवंगत हो चुके विनोद दुआ एनडीटीवी के मशहूर पत्रकारों में माने जाते थे परन्तु उन्होंने भी एक वक्त के बाद अपने खुद के यू ट्यूब चैनल से पत्रकारिता का रास्ता अपना लिया था। वे स्वयं में काफी मशहूर थे साथ ही उनके नाम का चैनल भी काफी ज्यादा प्रसिद्धि प्राप्त किया हुआ था।

साक्षी जोशी (Sakshi Joshi)

मेन स्ट्रीम मीडिया को छोड़कर साक्षी जोशी ने भी यू टयूब से पत्रकारिता का रास्ता अपनाया।
वर्तमान में साक्षी भी काफी ज्यादा मशहूर पत्रकार बनकर शोहरत कमा रहीं है।

इतना ही नहीं ऐसे तमाम पत्रकार है जो मात्र यू ट्यूब के माध्यम से पत्रकारिता करते हुए अपने आपको एक सर्वश्रेस्ठ स्तर पर ले जा चुके है

पत्रकारों ने यू ट्यूब (You Tube) को ही क्यों चुना?

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?

अगर आप में पत्रकारिता करने की स्किल है तो डिजिटल रूप से पत्रकारिता करने के लिए यू ट्यूब (You Tube) आपके लिए एक बेहतर चुनाव है। आइए हम बताते है कि पत्रकारों ने अपनी पत्रकारिता करने के लिए माध्यम के रूप में यू ट्यूब को ही क्यों चुना:-

  • यू ट्यूब में चैनल बनाना आसान है।
  • यू ट्यूब चलाना एक आसान प्रक्रिया है।
  • थोड़ी सी तकनीकी जानकारी से आप अपने यू ट्यूब चैनल को आसानी से मोनेटाइज कर सकते हैं।
  • आपका चैनल एक बार मोनेटाइज हो जाने पर आपके क्रिएटिविटी और कंटेंट के आधार पर आपकी असीमित कमाई हो सकती है।
  • आपके यू ट्यूब चैनल एक बार जन संज्ञान में आने के बाद आपकी निजी विज्ञापनों से असीमित कमाई हो सकती है।

पत्रकारों के लिए यू ट्यूब माध्यम ही क्यों उपयुक्त है?

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?

एक अच्छी ऑडिएंस मिलेगी

  • समाचार प्रकाशकों(News Publishers) द्वारा यू ट्यूब का उपयोग करने का इरादा दर्शकों(News Readers) की वृद्धि को बढ़ाना है। इसका मतलब है कि अरबों दर्शक दृश्य सामग्री को खोजने के लिए YouTube पर पहुंच रहे हैं।
  • YouTube पर अरबों घंटे की वीडियो कंटेंट विश्व स्तर पर दर्शकों द्वारा देखी जा रही है।

उदाहरण के लिए, यदि आप जापान के भूकंप वीडियो को YouTube पर देखें तो 96 मिलियन से अधिक बार देखा जा रहा है।

  • 90% किशोर YouTube वीडियो देखते हैं और पत्रकार एकल अपलोड के माध्यम से लाखों फॉलोवर को प्राप्त करने के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं।

दर्शकों का निरंतर जुड़ाव

  • सामान्य दर्शकों के रचनाकारों को देखा जा सकता है कि कैसे YouTube ने बिना पीछे झुके किसी के करियर के निर्माण पर अपना प्रभाव दिखाया है।
  • समाचार प्रकाशक और संगठन वीडियो सामग्री को साझा करने और उस पर टिप्पणी करने के लिए एक बड़ा प्रशंसक आधार बना सकते हैं।
  • यह लगातार दर्शकों की भारी व्यस्तता हासिल करने में मदद करता है।

YouTube चैनल पर दर्शकों की एक्टिव इन्वॉल्वमेंट की संभावनाएं

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
  • दर्शक पसंद किए जाने वाले यूट्यूब चैनल की सदस्य्ता ले सकते हैं।
  • दर्शक समाचार संगठनों के प्रश्नों को उठा सकते हैं और वीडियो कंटेंट के वितरण के माध्यम से समाचार चैनल के निर्माता से प्रतिक्रिया प्राप्त कर सकते हैं।
  • अधिकांश दर्शक वीडियो सामग्री को साझा करने में रुचि दिखाएंगे जिसके माध्यम से यह वायरल हो जाता है और समाचार संगठन की प्रतिष्ठा बनाता है।
  • दर्शक अक्सर देखने के लिए सब्सक्राइब किए गए समाचार चैनल के वीडियो को प्लेलिस्ट में जोड़ सकते हैं।
  • उपयोगकर्ता के अनुभव का विश्लेषण उसके पसंद और नापसन्द के विकल्पों से किया जा सकता है।

दर्शकों की व्यस्तता बढ़ाने के लिए News Channel नीचे दी गई युक्तियों का उपयोग कर सकते हैं

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
  • लाइव न्यूज YouTube सर्च का माध्यम, दर्शकों को व्यस्त रखने का हथियार है।
  • समाचार एजेंसी का आधिकारिक YouTube चैनल स्थापित करना उसके उपयोगकर्ताओं की व्यस्तता के लिए सबसे अधिक फायदेमंद है।
  • ब्रेकिंग न्यूज दर्शकों को लुभाने का एक और महत्वपूर्ण कारक है।
  • मुद्रीकरण (YouTube Monetization) के माध्यम से राजस्व प्राप्त होगा

थोक में पैसा कमाने का एकमात्र स्रोत YouTube है। चैनल के प्रदर्शन के आधार पर YouTube रचनाकारों को विज्ञापन राजस्व प्राप्त करने की अनुमति देगा।
यह रचनाकारों को विचारों, ग्राहकों और देखने के समय पर विचार करके YouTube भागीदारी कार्यक्रम में भाग लेने देता है।

यू ट्यूब चैनल में काम करने के आउटलेट क्या होने चाहिए?

पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?
पत्रकारों के लिए YouTube चैनल का क्या महत्व है?

बातचीत करें

माना YouTube एक वीडियो प्रकाशन मंच है, फिर भी यह एक सामाजिक नेटवर्क है, जहां उपयोगकर्ता अपनी सामग्री बना सकते हैं और वीडियो के माध्यम से स्वाभाविक रूप से बातचीत कर सकते हैं।

अपने फॉलोवर्स को टारगेट करें

संगठन के सोशल मीडिया चैनलों या वेबसाइट के वीडियो को बढ़ावा देने से मौजूदा दर्शकों को नए YouTube वीडियो मिलेंगे, साथ ही नए दर्शकों को YouTube से वेबसाइट पर वापस लाने में भी मदद मिलेगी।

शेयरिंग कंटेंट बनाएं

सामग्री को ‘साझा करने योग्य’ बनाना हाल ही में कई संगठनों के लिए एक बड़ा फोकस रहा है, और YouTube इसे सबसे अधिक दृश्य तरीके से प्राप्त करने के लिए एक उत्कृष्ट मंच प्रदान करता है।

सहयोग करें और प्रचार करें

कुछ ब्रांड YouTube पर कैसे सफल हुए हैं, इसके लिए सहयोग महत्वपूर्ण रहा है, अन्य चैनलों के साथ काम करके “नए मूल्य उत्पन्न करने और नए दर्शकों तक पहुंचने में मदद करने के लिए प्रसारण या संग्रह सामग्री को पुनः सक्रिय करें।”

क्यूरेट करें और बीट का मालिक बनें

यदि कोई संगठन या प्रकाशन किसी विशिष्ट विषय पर ध्यान केंद्रित करता है, तो उसका लक्ष्य YouTube पर उस विषय के लिए विश्वसनीय होना चाहिए, जो कि कहीं और से सामग्री को “बीट के मालिक” के लिए क्यूरेट करता है। YouTube पर सत्यापन और विश्वसनीयता अन्य प्लेटफार्मों की तरह ही महत्वपूर्ण हैं, इसलिए उन्होंने अधिकार बनाए रखने के लिए साझा की जाने वाली सामग्री में सावधानी बरतने की सलाह दी।

एक संदर्भ प्रदान करें

समाचार संगठनों को हमेशा दर्शकों के लिए कहानियों और घटनाओं को संदर्भ में रखना चाहिए। यह वीडियो में पॉप-अप विंडो या बैनर, वेबसाइटों के लिंक के माध्यम से हो सकता है या दर्शकों के लिए एक प्रस्तुतकर्ता या ग्राफिक बिंदु अन्य विकल्पों के माध्यम से हो सकता है।

दर्शकों की रुचि को बनाए रखने के लिए संगठनों को शुरू से ही वीडियो को सुलभ बनाना चाहिए। YouTube सही विकल्प चुनने में चैनलों के लिए बड़ी मात्रा में डेटा प्रदान करता है, जिसमें वीडियो को पसंद या नापसंद करने की जानकारी शामिल है।

दर्शकों के साथ जुड़ाव करें

YouTube अपने चैनलों को, अन्य सोशल मीडिया या कमेंट्स थ्रेड्स की तरह दर्शकों के साथ जुड़ने का अवसर देता है, इसलिए संगठनों को दर्शकों के साथ संवाद करने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। दर्शक आपके साथ जुड़ते हैं और प्रशंसकों को आपकी सामग्री में उनकी साझा रुचि के आसपास एक-दूसरे से जुड़ने में मदद करते हैं।

जल्दी प्रतिक्रिया करें

यदि आपके पास कोई ऐसी घटना है जो विशेष रूप से महत्वपूर्ण है, तो क्रॉस-प्रमोशन करें, इसे बढ़ावा देने और इसे और अधिक सुलभ बनाने का तरीका खोजें। हर सुझाव पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें।

अगर आप भी पत्रकार हैं और सोशल मीडिया मार्केटिंग(Social Media Marketing For Journalists) के जरिए अपना नाम कामना चाहतें हैं तो हमसे सम्पर्क करें।

Get Free Consultation Now!

Take a chance on us, don’t wait and book a free consultation call. There is nothing to lose, only a chance of getting closure to make your news industry a big hit.