फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट क्या है?

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट: फेसबुक ने उसके माध्यम से फैलाई जा रही फेक न्यूज़ एजेंसियों पर लगाम कसने के लिए अब जर्नलिज्म(Journalism) का सहारा लिया है और फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट(Facebook Journalism Project) अथवा मेटा जर्नलिज़्म प्रोजेक्ट लेकर आया है। न्यूज़ पोर्टल यूजर्स अब अपने न्यूज़ पोर्टल(News Portal) को फेसबुक(Facebook) से कनेक्ट कर के फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट के तहत सीधे अपनी पत्रकारिता को संचालित कर सकते है। आइए डिटेल में जानते है इसके बारे में की फेसबुक जर्निलज्म की जरूरत क्यों पड़ी।

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट

पत्रकारिता को निखारने के लिए ई-लर्निंग दे रहा फेसबुक

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट

  • फेसबुक ने डिजिटल रिपोर्टिंग और संपादन(Digital Reporting and Publication) में एक मजबूत नींव बनाने के लिए एक ई-लर्निंग कोर्स की शुरुआत की है जिसमे न्यूज़ पोर्टल यूजर्स(News Portal Users) को पत्रकारिता(Digital Journalism) के दांव पेंच समझाए जाएंगे। हम बता दे कि फेसबुक ने अपने इन ई लर्निंग कोर्स में एशिया-प्रशांत, मध्य पूर्व और अफ्रीका के पत्रकारों को सपोर्ट किया है।
  • फेसबुक के अनुसार अब से, थाईलैंड, इंडोनेशिया, फिलीपींस, पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, मलेशिया, भारत, अफ्रीकी महाद्वीप के प्रत्येक देश और मध्य पूर्व के अधिकांश देशों सहित देशों के पत्रकार मुफ्त ई-लर्निंग कार्यक्रम का उपयोग करने में सक्षम होंगे जिससे उनकी पत्रकारिता मे निखार आए।
  • फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट के तहत किए जा रहे ई कोर्स के पाठ्यक्रम को अनुभवी और जानकर लेखकों द्वारा विकसित किया गया था और इसमें डिजिटल समाचार(Digital News) एकत्र करने, न्यूज़ वेरिफिकेशन और रिपोर्टिंग, सोशल मीडिया पर प्रकाशन(Social Media for News Portals), रिपोर्टिंग करते समय निष्पक्षता और लचीलापन प्रशिक्षण पर मॉड्यूल शामिल हैं।

ई-लर्निंग कोर्स में यह प्रस्तावित है कि;

“समाचार मीडिया अब दृढ़ता से डिजिटल युग में है इसलिए डिजिटल प्लेटफॉर्म का सुरक्षित और प्रभावी ढंग से उपयोग करने में सक्षम होना आवश्यक है, अच्छी पत्रकारिता के लिए नींव सभी को चाहिए, चाहे आप एक नवोदित पत्रकार हों या एक बेहतर की तलाश में एक अनुभवी व्यक्ति।”

फेसबुक ने बताया कि वह अपने इस जर्निलज्म प्रोजेक्ट के तहत उसके इस नए ई-लर्निंग कार्यक्रम को लॉन्च करने के लिए लेखकों के साथ साझेदारी करके गर्व महसूस कर रहा है क्योंकि यह डिजिटल दुनिया के नए पत्रकारों को बदलते हुए डिजिटल न्यूज़ के साथ उनको नेविगेट करने में मजबूत जानकारी बनाने में मदद करता है। फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट की शुरुआत से डिजिटल पत्रकारिता जगत में नई क्रांति को आ जाने की पूरी संभावना है।

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट की शुरुआती प्रोसेस

स्टेप – 1: – फेसबुक पेज से अपने न्यूज़ पोर्टल वेबसाइट को जोड़े।

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट

न्यूज़ पोर्टल यूजर अपने फेसबुक पेज से अपनी न्यूज़ पोर्टल वेबसाइट(News Website) जोड़ें जिसमे वह वेबसाइट आपके पेज पर दिखाए गए न्यूज़ कंटेंट(News Content) पर ले जाना चाहिए।

स्टेप – 2: – अपने न्यूज़ पोर्टल बिजनेस को वेरिफाई करें

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट

अपना न्यूज़ पोर्टल से सम्बंधित बिज़नेस को वेरिफ़ाई करें क्योंकि बिज़नेस वेरिफ़िकेशन से फेसबुक आपके न्यूज़ पोर्टल की प्रामाणिकता(News Portal Verification) की जाँच कर सकता है ताकि वह उसे ज़रूरी फ़ीचर का ऐक्सेस दे सके। इसके लिए बिज़नेस मैनेजर एडमिन, बिज़नेस मैनेजर में यह काम कर सकते हैं।

स्टेप- 3: – अपने न्यूज़ पोर्टल वेबसाइट का डोमेन वेरिफाई करें

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट

फेसबुक के साथ अपनी न्यूज़ पोर्टल वेबसाइट का डोमेन(News Portal Domain Name) वेरिफ़ाई करें क्योंकि
डोमेन वेरिफ़िकेशन से यह कन्फ़र्म होता है कि आपका न्यूज़ पोर्टल बिज़नेस आपके फेसबुक पेज पर दिए गए डोमेन का मालिक है। बिज़नेस मैनेजर एडमिन, बिज़नेस मैनेजर में यह काम कर सकते हैं।

स्टेप- 4: – एप्लिकेशन सबमिट करें

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट

फेसबुक जर्नलिज्म की शुरुआत करने वाले न्यूज़ पोर्टल ऑनर अपना एप्लिकेशन(News Apllication) सबमिट करें,
बिज़नेस मैनेजर में सबमिशन करने के लिए बस कुछ क्लिक ही करने होते हैं। ऐसे में आपके न्यूज़ पोर्टल के बिज़नेस एडमिन जिनके पास बिज़नेस मैनेजर में पेज का एक्सेस है, वे एप्लिकेशन सबमिट कर सकते हैं।

स्टेप- 5: – अपने पब्लिकेशन की जानकारी दें

अपने न्यूज़ पोर्टल से होने वाले पब्लिकेशन के बारे में फेसबुक को जनाकारी बताएँ।
अपने पेज के बारे में वैकल्पिक जानकारी, जैसे कि लोगो और एडिटोरियल पॉलिसी शेयर करें, ताकि लोगों को प्रकाशकों और फेसबुक पर दिखाई देने वाले आर्टिकल के बारे में ज़्यादा जानकारी मिल सके।

स्टेप – 6: – फेसबुक को अपने पेवॉल कंटेंट का ऐक्सेस दें

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट

न्यूज़ पोर्टल ऑनर, फेसबुक को अपने पेवॉल कंटेंट का ऐक्सेस दें। पेवॉल वाले प्रकाशकों के लिए, आपके वेबमास्टर या आपकी पेवॉल मैनेज करने वाली टीम को रिव्यू प्रोसेस के हिस्से के रूप में अपनी न्यूज़ पोर्टल वेबसाइट पर मौजूद न्यूज़ कंटेंट का एक्सेस देना होगा जिससे वह फेसबुक से लिंक हो सके।

न्यूज़ पोर्टल को फेसबुक न्यूज़ पेज से रिजस्टर करते वक्त ध्यान दें

न्यूज़ पोर्टल यूजर्स को फेसबुक के माध्यम से उसके जर्नलिज्म प्रोजेक्ट पर आगे बढ़ने के अवसर अपने न्यूज़ पेज को रजिस्टर करने के साथ ही शुरू हो जाते हैं परन्तु इसके लिए तीन बातों को समझिए पहले;

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
  • क्या आप ऐसे फ़ीचर एक्सेस करना चाहते हैं, जिनकी मदद से आप सब्सक्राइबर के साथ गहरे रिश्ते बना सकें?
  • क्या आप फेसबुक न्यूज़ प्रोडक्ट के डेवलपमेंट को टेस्ट और गाइड करना चाहते हैं?
  • क्या आप अपने कंटेंट की पहुँच को अपने फेसबुक न्यूज़ पेज(Facebook Page For News Portal) से आगे ले जाना चाहते हैं?

अगर हाँ तो इतना जान लीजिए कि यह सब आपके न्यूज़ पोर्टल का आपके फेसबुक न्यूज़ पेज के साथ रजिस्ट्रेशन करने से शुरू होता है।

आगे हमने उन फ़ायदों के बारे में बताया गया है, जिन्हें न्यूज़ पोर्टल यूजर, अपने फेसबुक न्यूज़ पेज को रजिस्टर करने के बाद एक्सेस कर सकते हैं। लेकिन उससे पहले फेसबुक की कुछ गाइडलाइंस है, उन्हें जांच लीजिए।

  • यह जांच ले कि फेसबुक आपकी प्रकाशन भाषा में रजिस्ट्रेशन की सुविधा देता हैं या नहीं।
  • यह जांच लें कि आपके पेज ने अपना बिज़नेस और न्यूज़ पोर्टल का डोमेन वेरिफ़ाई कर लिया है।

न्यूज़ पोर्टल यूजर्स को यह ध्यान रहे कि फेसबुक न्यूज पेज रजिस्टर करते वक्त आप सिर्फ़ न्यूज़ प्रकाशकों की पॉलिसी एक्सेस कर सकते हैं, जैसे कि सामाजिक मुद्दों, चुनाव और राजनैतिक विज्ञापनों से संबंधित फेसबुक की पॉलिसी से छूट। यह छूट सिर्फ़ रजिस्टर हो चुके प्रकाशकों को ही उपलब्ध है, जो अतिरिक्त शर्तें पूरी करते हैं।

आपकी स्टोरीज़ फेसबुक पर न्यूज़ के लिए तय डेस्टिनेशन पर दिखाई जा सकती हैं

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट

अगर आप योग्य रजिस्टर प्रकाशक हैं और अतिरिक्त शर्तें पूरी करते हैं, तो आप न्यूज़ के लिए फेसबुक पर तय जगह में अपनी स्टोरीज़ दिखा सकते हैं। इसमें ‘फेसबुक न्यूज़’ भी शामिल है, जो न्यूज़ के लिए एक ख़ास जगह है जिसे अलग-अलग मार्केट में शुरू किया जा रहा है। साथ ही, आपकी स्टोरीज़ फेसबुक पर कोरोना वायरस (COVID-19) सूचना केंद्र पर भी दिखाई देंगी, जो COVID-19 वैश्विक महामारी की वजह से बनाया गया लोकल न्यूज़ और स्वास्थ्य जानकारी केंद्र है। इस प्रकार न्यूज पोर्टल यूजर्स को फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट में रजिस्टर करने का फायदा मिलेगा।

न्यूज़ पोर्टल यूजर्स को अपने सब्सक्राइबर को एंगेज करने वाले फेसबुक प्रोडक्ट का एक्सेस भी मिल सकता है

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट

आपके न्यूज़ पोर्टल बिज़नेस को आगे बढ़ाने के लिए, कस्टमर कम्युनिकेशन को मज़बूत बनाने पर फ़ोकस करने वाली फेसबुक कंपनी के कुछ प्रोडक्ट और फ़ीचर अब रजिस्टर्ड न्यूज़ प्रकाशकों(Registered News Publishers) के लिए भी उपलब्ध हैं। इनमें मैसेंजर की न्यूज़ मैसेजिंग क्षमता शामिल है जिससे प्रकाशकों को यह सुविधा मिलती है कि वे सब्सक्राइबर को ऐसे ब्रेकिंग न्यूज़ अपडेट के मैसेज भेज सकते हैं, जिनमें प्रचार वाली चीज़ें शामिल नहीं हैं ।

साथ ही, इनमें वाट्सप बिजनेस एपीआई भी शामिल है, जो आपके सब्सक्राइबर के अकाउंट के संबंध में उनसे कनेक्ट होने का सुरक्षित तरीका है। न्यूज़ पोर्टल यूजर्स के लिए यह तरकीब उनके पोर्टल की रिचिंग और ट्रैफिक में बेहद फायदेमंद है। इन सबके बारे में हम आगे विस्तार से बात करेंगे।

न्यूज़ पोर्टल यूजर फेसबुक न्यूज़ प्रोडक्ट के डेवलपमेंट को गाइड कर सकते हैं

किसी न्यूज़ पेज को रजिस्टर करने के बाद, यूजर हमारे उन नए प्रोडक्ट या फ़ीचर के बीटा टेस्ट से जुड़ सकते हैं जो समाचार संगठनों के लिए बनाए गए हैं परन्तु संभावना है कि उनमें शामिल होने के लिए अतिरिक्त शर्तें हो सकती हैं।

आप सभी न्यूज पोर्टल यूजर्स फेसबुक की ज़रूरतों को बेहतर तरीके से समझने और व्यापक रूप से इस न्यूज़ इंडस्ट्री को बेहतर सेवाएँ देने में फेसबुक की मदद करेंगे। फेसबुक आपके अनुभव की अहमियत देता है।

न्यूज़ पेज रजिस्ट्रेशन के फायदे

न्यूज़ पेज रजिस्ट्रेशन से फेसबुक(Facebook News Page Registration) को प्लेटफ़ॉर्म पर न्यूज़ पेज के पूरे और विविध इकोसिस्टम को पहचानने में मदद मिलती है और यह न्यूज़ पोर्टल यूजर्स के काम को फेसबुक पर मौजूद सभी अन्य पेज से अलग करता है। काम को पहचानने का यह प्रोसेस, न्यूज़ प्रकाशकों के लिए बेहतर टूल बनाने में फेसबुक की मदद करता है। एक न्यूज़ प्रकाशक के रूप में न्यूज पोर्टल यूजर्स फेसबुक न्यूज़ पेज के माध्यम से अपनी अलग पहचान बना सकते हैं। तो आइए जानते है न्यूज़ पेज रजिस्टर करने के फायदों को;

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
  • अपना न्यूज़ पेज रजिस्टर करने से आपको अपने न्यूज़ पोर्टल बिज़नेस को आगे बढ़ाने के अवसरों को एक्सेस करने की सुविधा मिलती है।
  • यूजर यह कन्फ़र्म करें कि आपका न्यूज़ पेज न्यूज़ पाने का एक ज़रिया है और ऐसे टूल पाएँ, जो फेसबुक टेक्नोलॉजी के साथ आपके न्यूज़ पोर्टल ब्रांड को आगे बढ़ाने, आपकी पहुँच का विस्तार करने और ऑडियंस बढ़ाने में मदद करते हैं।
  • अपने न्यूज़ पेज को रजिस्टर करवाना फेसबुक के साथ तरक्की के संभावनाओं के दरवाज़े खोलना है।
  • यूजर न्यूज़ पेज रजिस्टर कर के विशेष रूप से समाचार प्रकाशकों के लिए डिज़ाइन किए गए उत्पादों और नीतियों के लिए पात्र हो सकते हैं।

अपने न्यूज पेज को रजिस्टर करके, निम्न लिखित सीमाओं तक अपनी पहुँच प्राप्त कर सकते हैं;

  • सामाजिक मुद्दों, चुनावों और राजनीतिक विज्ञापनों के बारे में हमारी नीति से छूट।
  • इन विषयों पर विज्ञापन चलाने वाले छूट प्राप्त समाचार प्रकाशकों को विज्ञापन प्राधिकरण प्रक्रिया से गुजरने की आवश्यकता नहीं है।

FAQ

फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट
फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट

प्रश्न:- 1 – फेसबुक न्यूज़ क्या है?

फ़ेसबुक न्यूज़, फेसबुक प्लेटफ़ॉर्म पर समाचारों के लिए एक समर्पित स्थान है जो संयुक्त राज्य अमेरिका में लोगों के लिए शुरू हो रहा है और पूरे विश्व मे आने वाला है।

प्रश्न:- 2 – COVID-19 सूचना केंद्र का फेसबुक से क्या संबन्ध है?

रजिस्टर्ड न्यूज प्रकाशकों को फेसबुक पर समाचारों के लिए COVID-19 सूचना केंद्र जैसे बीस्पोक स्थानों में शामिल करने पर विचार किया जा सकता है। 100 से अधिक देशों में उपलब्ध, केंद्र COVID-19 महामारी के संबंध में समाचारों और स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के साथ लोगों तक पहुंचता है।

प्रश्न:- 3 – व्हाट्सएप बिजनेस एपीआई क्या है?

मध्यम और बड़े व्यवसाय दुनिया भर के ग्राहकों के साथ सरल, सुरक्षित और विश्वसनीय तरीके से जुड़ने के लिए वाट्सप बिजनेस एपीआई का उपयोग करते हैं।

प्रश्न:- 4 – मैसेंजर से न्यूज़ पेज रजिस्टर करने का क्या संबन्ध है?

रजिस्टर न्यूज़ पेजों को मैसेंजर में अपने ग्राहकों को नियमित न्यूज़ अपडेट भेजने की अनुमति है।

प्रश्न:- 5 – जर्नलिस्ट सेफ्टी अकाउंट क्या है?

रजिस्टर न्यूज़ पेज के लिए संपादकीय पद पर कार्यरत पत्रकार फेसबुक पर एक पत्रकार के रूप में रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। पंजीकरण करने से पत्रकारों को मजबूत सेफ्टी अकाउंट तक की पहुंच प्राप्त होगी जो उत्पीड़न और हैकिंग के खतरों से बचाव में मदद कर सकती है। यही है जर्नलिस्ट सेफ्टी अकाउंट।

प्रश्न:- 6 – प्रसंग बटन क्या है?

प्रसंग बटन फेसबुक पर लोगों को उन प्रकाशकों और लेखों के बारे में अधिक गहरी जानकारी देता है जो वे फेसबुक पर देखते हैं, जैसे कि संपादकीय और तथ्य-जाँच की नीतियां।

दोस्तो यदि आप एक पत्रकार बनना चाहते है या पत्रकारिता क्षेत्र में अपने आपको तकनीकी रूप से मजबूत करने के लिए, न्यूज़ पोर्टल या वेबसाइट डेवलेपमेंट (News Website Development) करवाने के लिए सोच रहे है तो आप हमारी कम्पनी 7k Network से संपर्क कर सकते है। हम आपको बेहतर सुविधा प्रदान करने के लिए सक्षम है। जुड़े रहिए 7k Network के साथ।

Get Free Consultation Now!

Take a chance on us, don’t wait and book a free consultation call. There is nothing to lose, only a chance of getting closure to make your news industry a big hit.